Hindi Shayari - New Hindi Shayari - Hindi Shayari Love - shayari4all

Hindi Shayari | New Hindi Shayari | Hindi Shayari Love

Hindi Shayari

मेरे दिल ने जब भी दुआ माँगी है,
तुझे माँगा है तेरी वफ़ा माँगी है,
जिस मोहब्बत को देख के दुनिया को रश्क आये,
तेरे प्यार करने की वो अदा माँगी है।

सर्द रातों में सताती है जुदाई तेरी,
आग बुझती नहीं सीने में लगाई तेरी,
तू तो कहता था बिछड़ के सुकून पा लेंगे,
फिर क्यों रोती है मेरे दर पे तन्हाई तेरी।

सर्द रातों में सताती है जुदाई तेरी,
आग बुझती नहीं सीने में लगाई तेरी,
तू तो कहता था बिछड़ के सुकून पा लेंगे,
फिर क्यों रोती है मेरे दर पे तन्हाई तेरी।

ज़मीं छूटी तो भटक जाओगे ख़लाओं में,
तुम उड़ते उड़ते कहीं आसमाँ न छू लेना।

बड़ी घुटन है, चराग़ों का क्या ख़याल करूँ,
अब इस तरफ कोई मौजे-हवा निकल आये।

फलसफा समझो न असरारे सियासत समझो,
जिन्दगी सिर्फ हकीक़त है हकीक़त समझो,
जाने किस दिन हो हवायें भी नीलाम यहाँ,
आज तो साँस भी लेते हो ग़नीमत समझो।

Siyasat Iss Kadar Aawam Pe Ehsaan Karti Hai,
Aankhein Chheen Leti Hai Fir Chashme Daan Karti Hai.
सियासत इस कदर अवाम पे अहसान करती है,
आँखे छीन लेती है फिर चश्में दान करती है।

Lade, Jhagde, Bhide, Kaate-Katein Shamsheer Ho Jayein,
Batein, Baantein, Chubhein Ek Doosre Ko Teer Ho Jayein,
Musalsal Qatl-o-Gaarat Ki Nayi Tasvir Ho Jayein,
Siyasat Chahti Hi Hum Aur Tum Kashmir Ho Jayein.
लड़ें, झगड़ें, भिड़ें, काटें, कटें, शमशीर हो जाएँ,
बटें, बाँटें, चुभे इक दुसरे को, तीर हो जाएँ,
मुसलसल कत्ल-ओ-गारत की नई तस्वीर हो जाएँ,
सियासत चाहती है हम और तुम कश्मीर हो जाएँ।

Siyasat Ko Lahoo Peene Ki Aadat Hai,
Varna Mulk Mein Sab Khairiyat Hai.
सियासत को लहू पीने की लत है,
वरना मुल्क में सब ख़ैरियत है।

Ek Aansoo Bhi Hukoomat Ke Liye Khatra Hai,
Tum Ne Dekha Nahi Aankhon Ka Samundar Hona.
एक आँसू भी हुकूमत के लिए ख़तरा है,
तुम ने देखा नहीं आँखों का समुंदर होना।

Siyasat Ki Dukaano Mein Roshni Ke Liye,
Jaroori Hai Ke Mulk Mera Jalta Rahe.
सियासत की दुकानों में रोशनी के लिए,
जरूरी है कि मुल्क मेरा जलता रहे।

Inn Se Umeed Na Rakh Hain Ye Siyasat Wale,
Ye Kisi Se Bhi Mohabbat Nahi Karne Wale.
इन से उम्मीद न रख हैं ये सियासत वाले,
ये किसी से भी मोहब्बत नहीं करने वाले।

चांद रोज़ छत पर आकर इतराता बहुत था,
कल रात मैंने भी उसे तेरी तस्वीर दिखा दी……..!!!

अजीब सी बेताबी है तेरे बिना,
रह भी लेते है और रहा भी नही जाता…..!!!

तु मिल गई है तो मुझ पे नाराज है खुदा,
कहता है की तु अब कुछ माँगता नहीं है…..!!!

अपनी सांसों में महकता पाया है तुझे,
हर खवाब मे बुलाया है तुझे,
क्यू न करे याद तुझ को,
जब खुदा ने हमारे लिए बनाया है तुझे……..!!!

दिल की किताब में गुलाब उनका था,
रात की नींद में ख्वाब उनका था,
कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा,
मर जायंगे तुम्हारे बिना ये जबाब उनका था……!!!

तेरे हुस्न को परदे की ज़रुरत ही क्या है,
कौन होश में रहता है तुझे देखने के बाद…….!!!

हमारी तडप तो कुछ भी नहीं है हुजुर,
सुना है कि आपके दिदार के लिए तो आइना भी तरसता है……!!!

पहली मुलाकात थी और हम दोनों ही बेबस थे,
वो अपनी जुल्फें न संभाल पाए और हम खुद को……!!!

मुझसे जब भी मिलो तो नज़रें उठा के मिला करो,
मुझे पसंद है अपने आप को तेरी आँखों में देखना……!!!

मै उसको चाँद कह दू ये मुमकिन तो है,
मगर… लोग उसे रात भर देखें ये मुझे गवारा नहीं…..!!!

कोई अजनबी ख़ास हो रहा है,
लगता है फिर प्यार हो रहा है………!!!

कह दो अपने दांतों को, क़ि हद में रहें,
तेरे लबों पे बस मेरे लबों का हक़ है……!!!

खुदा करे, सलामत रहें दोनों हमेशा,
एक तुम और दूसरा मुस्कुराना तुम्हारा…..!!!

शान से हम तेरे दिल में रहेंगे,
तेरी मोहब्बत पे जान निसार करेंगे,
देख के जलेंगी हमे दुनिया सारी,
इस कदर बे-पनाह तुझे प्यार करेंगे……!!!

जब से देखा है तेरी आँखो मे झाँक कर,
कोई भी आईना अच्छा नही लगता,
तेरी मोहब्बत मे ऐसे हुए है दीवाने,
तुम्हे कोई और देखे तो अच्छा नही लगता……..!!!

तू चाँद और मैं सितारा होता,
आसमान में एक आशियाना हमारा होता,
लोग तुम्हे दूर से देखते,
नज़दीक़ से देखने का हक़ बस हमारा होता……!!!

हमें आदत नहीं हर एक पे मर मिटने की,
तुझे में बात ही कुछ ऐसी थी दिल ने सोचने की मोहलत ना दी…..!!!

लोग देखेंगे तो अफ़साना बना डालेंगे,
यूँ मेरे दिल में चले आओ की आहट भी न हो……!!!

एक बार उसने कहा था,
मेरे सिवा किसी से प्यार ना करना,
बस फिर क्या था,
तबसे मोहब्बत की नजर से हमने खुद को भी नहीं देखा…..!!!

वो न आए उनकी याद वफ़ा कर गई,
उनसे मिलने की चाह सुकून तबाह कर गई,
आहट दरवाज़े की हुई तो उठकर देखा,
मज़ाक हमसे हवा कर गई….!!!

हमारे आंसूं पोंछ कर वो मुस्कुराते हैं,
उनकी इस अदा से वो दिल को चुराते हैं,
हाथ उनका छू जाये हमारे चेहरे को,
इसी उम्मीद में हम खुद को रुलाते हैं…….!!!

तेरे चेहरे पर अश्कों की लकीर बन गयी,
जो न सोचा था तू वो तक़दीर बन गयी……!!!

हमने तो फिराई थी रेतो पर उंगलिया,
मुड़ कर देखा तो तुम्हारी “तस्वीर” बन गयी……!!!

तनहाई ले जाती है जहाँ तक याद तुम्हारी,
वही से शुरू होती है जिंदगी हमारी,
नहीं सोचा था हम चाहेंगे तुम्हें इस कदर,
पर अब तो बन गए हो तुम किसमत हमारी…..!!!

न जाने क्या कशिश है,
उनकी मदहोश आँखों में,
नज़र अंदाज़ जितना करो,
नज़र उन्हीं पे ही पड़ती है…….!!!

वो कहने लगी,
नकाब में भी पहचान लेते हो हजारों के बीच,
में ने मुस्करा के कहा,
तेरी आँखों से ही शुरू हुआ था “इश्क”, हज़ारों के बीच…..!!!

वो जो हमारे लिए ख़ास होते हैं,
जिनके लिए दिल में एहसास होते हैं,
चाहे वक़्त कितना भी दूर कर दे उन्हें,
पर दूर रहकर भी वो दिल के पास होते हैं…….!!!

हर सागर के दो किनारे होते है,
कुछ लोग जान से भी प्यारे होते है,
ये ज़रूरी नहीं हर कोई पास हो,
क्योंकी जिंदगी में यादों के भी सहारे होते है……!!!

तुम दिल से हमें यों पुकारा ना करो,
यु तुम हमें इशारा ना करो,
दूर हैं तुमसे ये मजबूरी है हमारी,
तुम तन्हाइयों में यूं तड़पाया ना करो……!!!

तमन्ना हो अगर मिलने की,
तो हाथ रखो दिल पर,
हम धड़कनों में मिल जायेंगे……!!!

चलो सिक्का उछाल के कर लेते हैं फैसला आज,
चित आये तो तुम मेरे और पट आये तो हम तेरे…..!!!

खुद को खुद की खबर न लगे,
कोई अच्छा भी इस कदर न लगे,
आपको देखा है उस नजर से,
जिस नजर से आपको नजर न लगे……!!!

नदी को सागर से मिलने से ना रोको,
बारिस की बूंदों को धरती से मिलने से ना रोको,
जिन्दा रहने के लिए तुमको देखना जरुरी है,
मुझे तुम्हारा दीदार करने से ना रोको……!!!

तेरे ख्याल से खुद को छुपा के देखा है,
दिल-ओ-नजर को रुला-रुला के देखा है,
तू नहीं तो कुछ भी नहीं है तेरी कसम,
मैंने कुछ पल तुझे भुला के देखा है।
Tere Khayal Se Khud Ko Chhupa Ke Dekha Hai,
Dil-o-Najar Ko Rula-Rula Ke Dekha Hai,
Tu Nahi To Kuchh Bhi Nahi Hai Teri Kasam,
Maine Kuchh Pal Tujhe Bhula Ke Dekha Hai.

हम आपकी हर चीज़ से प्यार कर लेंगे,
आपकी हर बात पर ऐतबार कर लेंगे,
बस एक बार कह दो कि तुम सिर्फ मेरे हो,
हम ज़िन्दगी भर आपका इंतज़ार कर लेंगे।
Hum Aapki Har Cheez Se Pyar Kar Lenge,
Aapki Har Baat Par Aitbaar Kar Lenge,
Bas Ek Bar Keh Do Ki Tum Sirf Mere Ho,
Hum Zindagi Bhar AapKa Intezaar Kar Lenge.

मुझे खामोश राहों में तेरा साथ चाहिए,
मेरा हाथ तन्हा है तेरा हाथ चाहिए,
हसरत-ए-ज़िन्दगी को तेरी ही सौगात चाहिए,
मुझे जीने के लिए तेरा ही बस साथ चाहिए।
Mujhe Khamosh Raahon Mein Tera Saath Chahiye,
Mera Haath Tanha Hai Tera Haath Chahiye,
Hasrat-e-Zindagi Ko Teri Hi Saugaat Chahiye,
Mujhe Jeene Ke Liye Tera Hi Bas Saath Chahiye.

मैं लव हूँ पर मेरी बात तुम हो,
और मैं तब हूँ जब मेरे साथ तुम हो।

तू चाँद मैं सितारा होता,
आसमान में एक आशिया हमारा होता।
लोग तुझे दूर से देखा करते और
सिर्फ पास रहने का हक हमारा होता।

जब खामोश आँखों से बात होती है,
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,
तेरे ही ख्यालों में खोये रहते हैं,
न जाने कब दिन और कब रात होती है।

मोहब्बत कभी किसी की इजाज़त की मोहताज नहीं,
ये हमेशा से होती चली आई है,
और हमेशा होती रहेगी।

कर दे नज़रे करम मुझ पर,
मैं तुझपे ऐतबार कर दूँ,
दीवाना हूँ तेरा ऐसा,
कि दीवानगी की हद को पार कर दूँ,

Kar de najre karm mujh par main tuj par aitbar kar du
Deewana hu tera aisa ki deewangi ki had ko paar kar du

नज़रे करम मुझ पर इतना न कर,
की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं,
मुझे इतना न पिला इश्क़-ए-जाम की,
मैं इश्क़ के जहर का आदि हो जाऊं।
Nazre Karam Mujh Par Itna Na Kar,
Ki Teri Mohabbat Ke Liye Baagi Ho Jaaun,
Mujhe Itna Na Pila Ishq-E-Jaam Ki,
Main Ishq Ke Jahar Ka Aadi Ho Jaaun.

Hamen Seene Se Lagakar Hamari Sari Kasak Door Kar Do,
Ham Sirf Tumhare Ho Jaye Hamen Itna Majaboor Kar Do.
हमें सीने से लगाकर हमारी सारी कसक दूर कर दो,
हम सिर्फ तुम्हारे हो जाऐ हमें इतना मजबूर कर दो।

घायल कर के मुझे उसने पूछा,
करोगे क्या फिर मोहब्बत मुझसे,
लहू-लहू था दिल मेरा मगर
होंठों ने कहा बेइंतहा-बेइंतहा।

सुनो तुम्हें राज़ की बात बताऊँ
जहां तुम नहीं होते वहां लम्हे उदास होते हैं
Suno Tumhen Raaz Kee Baat Bataoon
Jahaan Tum Nahin Hote Vahaan Lamhe Udaas Hote Hain

मेरे मरने पर लाख रोएंगे
मेरे रोने पर कौन मारता है
Mere Marane Par Laakh Roenge
Mere Rone Par Kaun Maarata Hai

बहोत मान था जिनपर
बड़े बेईमान निकले वो
Bahot Maan Tha Jinapar
Bade Beeemaan Nikale Vo

कुछ मजबूरियां हैं वरना
कहाँ रहा जाता है तेरे बिन
Kuchh Majabooriyaan Hain Varana
Kahaan Raha Jaata Hai Tere Bin

दिल की ज़िद हो तुम वरना
इन आँखों ने बहुत लोग देखे हैं
Dil Kee Zid Ho Tum Varana
In Aankhon Ne Bahut Log Dekhe Hain

उसने आंसू भी मेरे देखे थे
उसने फिर भी कहा के जाना है
Usane Aansoo Bhee Mere Dekhe The
Usane Phir Bhee Kaha Ke Jaana Hai

तेरी ज़ुल्फ़ों में उलझा हुआ है
वो मोहल्ले का सबसे सुलझा हुआ लड़का
Teree Zulfon Mein Ulajha Hua Hai
Vo Mohalle Ka Sabase Sulajha Hua Ladaka

बेवफाई की सब किताबों में
तेरे जैसी कोई मिसाल नहीं
Bevaphaee Ki Sab Kitaabon Mein
Tere Jaisee Koee Misaal Nahin

फिर कहीं भी पनाह नहीं मिलती
मोहब्बत जब बे-पनाह हो जाये
Phir Kaheen Bhee Panaah Nahin Milatee
Mohabbat Jab Be-Panaah Ho Jaaye

जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जिंदगी में कोई प्यार से प्यारा नही मिलता,
जो है पास आपके उसको सम्भाल कर रखना,
क्योंकि एक बार खोकर प्यार दोबारा नही मिलता।

बहुत सुकून मिलता है जब उनसे हमारी बात होती है,
वो हजारो रातों में वो एक रात होती है,
जब निगाहें उठा कर देखते हैं वो मेरी तरफ,
तब वो ही पल मेरे लीये पूरी कायनात होती है।

आग लगी दिल में जब वो खफ़ा हुए,
एहसास हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
करके वफ़ा वो हमे कुछ दे न सके,
लेकिन दे गये बहुत कुछ जब वो वेबफा हुए।

दिल का हाल बताना नही आता,
हमे ऐसे किसी को तड़पाना नही आता,
सुनना तो चाहतें हैं हम उनकी आवाज़ को,
पर हमे कोई बात करने का बहाना नही आता।

हर कदम हर पल हम आपके साथ है,
भले ही आपसे दूर सही, लेकिन आपके पास हैं,
जिंदगी में हम कभी आपके हो या न हों,
लेकिन हमे आपकी कमी का हर पल एहसास हैं।

इश्क करती हूँ तुझसे अपनी जिंदगी से ज्यादा,
मैं डरतीं हूँ मौत से नही तेरी जुदाई से ज्यादा,
चाहे तो हमे आज़मा कर देख किसी और से ज्यादा,
मेरी जिंदगी में कुछ नही तेरी आवाज़ से ज्यादा।

जब खामोश निगाहों से बात होती है,
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,
हमतो बस खोये ही रहतें हैं उनके ख्यालों में,
पता ही नही चलता कब दिन कब रात होती है।

हकीकत कहो तो उन्हें ख्वाब लगता है,
शिकवा करो तो उन्हें मज़ाक लगता है,
कितनी शिद्दत से हम उन्हें याद करते हैं,
और एक वो हैं जिन्हें ये सब मजाक लगता है।

तेरी मोहब्बत ने हमे बेनाम कर दिया,
हमे हर ख़ुशी से अंजान कर दिया,
हमने तो कभी नही चाहा था हमे मोहब्बत हो,
लेकिन उसकी पहली नज़र ने हमे नीलाम कर दिया।

इस नजर ने उस नजर से बात करली,
रहे खामोश मगर फिर भी बात करली,
जब मोहब्बत की फ़िज़ा को खुश पाया,
तो दोनों निगाहों ने रो रो कर बरसात करली।

तू तोड़ दे वो कसम जो तूने खाई है,
कभी कभी याद करने में क्या बुराई है,
तुझे याद किये बिना रहा भी तो नही जाता,
तूने दिल में जगह जो ऐसी बनाई है।

इश्क सभी को जीना सीखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क नही किया तो करके देखना,
ज़ालिम हर दर्द सहना सिखा देता है।

आपकी परछाई हमारे दिल में है,
आपकी यादें हमारी आँखों में हैं,
आपको हम भुलाएं भी कैसे,
आपकी मोहब्बत हमारी सांसो में हैं।

प्यार वो है जो जज्बात को समझे,
मोहब्बत वो है जो एहसास को समझे,
मिलते हैं जहाँ में बहुत अपना कहने वाले,
पर अपना वो है जो बिन कहे हर बात समझे। 💘

मजबूरी के साथ कभी मुझे प्यार मत करना,
एहसान करके मुझे कभी खुशिया दान मत करना,
दिल करे तो सच्चा प्यार करना वरना…
झूठी अफवाओं से मुझे बदनाम ना करना। 💘

पास नही हो फिर भी तुम्हे प्यार करते हैं,
देखकर तस्वीर तुम्हारी तुम्हे याद करते हैं,
दिल में इतनी तड़प है,
के हर वक्त तेरे मिलने की फरियाद करते हैं! 💘

रोती हुई आँखो मे इंतेज़ार होता है,
ना चाहते हुए भी प्यार होता है,
क्यू देखते है हम वो सपने,
जिनके टूटने पर भी उनके सच होने का इंतेज़ार होता है! 💘

अहसास लिखूँ जज़बात लिखूँ या
तेरी शोख अदाओं के अंदाज लिखूँ,
मेरे ज़हन में वो लफ्ज़ कहाँ
कि.. तेरे हुस्न की तमाम बात लिखूँ। 💘

दो कदम तो सब चल लेते हैं पर
जिंदगी भर कोई साथ नहीं देता
अगर रोने से भूला दी जाती यादें
तो हंसकर कोई गम न छुपाता। 💘

काश कोई होता.. काश कोई होता..
जो गले लगा कर कहे की पागल रोया ना कर…
मुझे भी तेरे दर्द से दर्द होता है। 💘

मुस्कुराना हमेशा क्युकी मैं साथ हूँ,
सामने न सही पर आस-पास हो,
पलकों को बंद करके दिल से याद करना,
मैं और कोई नहीं दोस्ती का प्यारा एहसास हो। 👫

सवाल पानी का नहीं, प्यास का है,
सवाल मौत का नहीं, साँस का है,
दोस्त तो दुनिया में बहुत है मगर,
सवाल दोस्ती का नहीं प्यार का है। 👫

आपके प्यार की इनायत चाहिए,
दिल है बे-घर उसे एक घर चाहिए,
बस यही साथ चलते रहो ऐ-दोस्त,
ये साथ हमें उम्र भर चाहिए। 👫

मुस्कुराओ आप तो फूल खिल जाए,
बातें करो तो दिल मचल जाए,
इतनी दिलकश है आपकी दोस्ती,
दोस्त तो क्या दुश्मन भी आपकी दोस्ती पे फ़िदा हो जाये। 👫

साथ भीगें बारिश में अब यह मुमकिन नहीं,
चलो भीगतें हैं यादों में, तुम कहीं हम कहीं। 💖

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *